Home » Posts tagged "Piles"

Medicinal use of VishKhpra in Bloody piles, Eye diseases

विषखपरा विषखपरा का पौधा बहुत छोटे कद का होता है । यह अक्सर जमीन पर फैलने पर क्षुप हैं । इस पर गुलाबी रंग के फुल खिलते हैं । इसकी जड़ सफेद रंग की तथा मोटी होती है । यह तीन रंगों में जन्म लेती है । 1. काला, 2.सफेद, लाल इनमें से लाल रंग का विषखपरा अधिक पैदा होता है । यह बात ध्यान रहे कि इसमें से लाल...

Read More »

कैसे अंजीर से कब्ज , मुंह के छाले, दमा तथा दांतों में दर्द से रहत देता है |

अंजीर के लाभ (FIG Benefits) अंजीर एक ऐसा फल है जो जितना मीठा है। उतना ही लाभदायक भी है।अंजीर के सूखे फल बहुत गुणकारी होते हैं। अंजीर खाने से कब्ज दूर हो जाती है। गैस और एसीडिटी से भी राहत मिलती है। साधारण कब्ज में गरम दूध में सूखे अंजीर उबाल कर सेवन से सुबह दस्त साफ होता है। इससे कफ बाहर आ जाता है। सूखे अंजीर को उबाल कर...

Read More »

“Gram (Chickpeas)” benefits for humen body in Ayurveda

चना चना न तो कोई जड़ी-बूटी है न ही कोई वृक्ष | यह खेती-बाड़ी द्वारा पैदा  होने वाला एक पारकर का गुणकारी अनाज है | इसका पौधा एक फुट अथवा कुछ अधिक बड़ा होता है | इसकी फसल फरवरी-मार्च मास में पककर तैयार होती है | चना कच्चा हो या पक्का या इसके पत्ते हों, इसे हर पारकर से खाने के लिए उपयोगी माना गया है | चना एक है...

Read More »

“Peelu (पीलू)” beneficial for Hemorrhoids, fever, Urine disease

पीलू पीलू के वृक्ष बहुत टेढ़े-मेढ़े होते हैं । उन पर पीलुओं के बड़े-बड़े गुच्छे फलों के रूप में लगते हैं । इन वृक्ष पर दिसम्बर मास में फुल आते हैं और मार्च मास में फल पक जाते हैं । लाभ तथा गुण बवासीर बवासीर रोगियों के लिए पीलू का रस बहुत ही गुणकारी माना गया है क्योंकि यह रस मीठा होता है । लोग इसे बहुत खुश होकर पीते...

Read More »

Multiple uses of “Mango (आम)” for Kidney, Brain, Diabetes in Ayurveda

आम भारतवर्ष में आम को फलों का राजा कहते हैं । खाने में सब फलों से स्वादिष्ट, गुणों में प्रथम श्रेणी में आने वाला आम पत्तों से लेकर फल तथा बीजों तक काम आने वाला है । यह फल सच के मन को भाता है । बवासीर तथा पेचिश मीठे आम, एक बड़ा चम्मच रस, दही आधा चम्मच, अदरक का रस आधा चम्मच-इन सब को मिला रोगी को सुबह-शाम दें...

Read More »

“Adolescence white straw (ओंगा सफेद डंडी का)” medicinal uses in Ayurveda

ओंगा सफेद डंडी का एक शाखा पर ही दो फुल खिले परंतु भाग्य तो जुदा-जुदा है । ठीक ऐसे ही ओंगा बूटी के बारे में कहा जाता है कि एक नाम-राशि के होते हुए भी तासीर कार्य अलग-अलग हैं । सफेद ओंगा के लाभ तथा गुण जिन औरतों के बच्चा होने पर दूध न उतरे उन्हें ओंगा की जड़ तथा पत्तों को पीसकर रत्नों को आगे वाले भाग (चुचों) पर...

Read More »

“Papaya (पपीता)” fruit benefits for piles patients

पपीता पपीते का वृक्ष बहुत लंबा होता है और उसके पत्ते काफी चौड़े, फल बड़े-बड़े होते हैं जैसा आप चित्र में देख रहें हैं । इसके पेड़ हर जगह लग जाते हैं | कभी-कभी तो यह स्वयं ही प्राकृतिक रूप से उग आते हैं | कुछ स्थानों पर इसके बाग भी लगाए जाते हैं | अर्थ कच्चा पपीता मल को रोकने वाला, खांसी को दूर भगाने वाला होता है |...

Read More »