Home » Posts tagged "Eye diseases"

Medicinal use of VishKhpra in Bloody piles, Eye diseases

विषखपरा विषखपरा का पौधा बहुत छोटे कद का होता है । यह अक्सर जमीन पर फैलने पर क्षुप हैं । इस पर गुलाबी रंग के फुल खिलते हैं । इसकी जड़ सफेद रंग की तथा मोटी होती है । यह तीन रंगों में जन्म लेती है । 1. काला, 2.सफेद, लाल इनमें से लाल रंग का विषखपरा अधिक पैदा होता है । यह बात ध्यान रहे कि इसमें से लाल...

Read More »

Medicinal use of Shotakchini in Heart Diseases, Eye Diseases

शोतकचीनी इसका पौधा मध्यम कद का होता है तथा पत्ते लंबे, जिनकी जड़ों से सफेद रंग के छोटे-छोटे फुल खिलते हैं । यह आमतौर पर खुले मैदानों में मिलता है । गुण तथा लाभ शेतक चीनी पेट के रोगियों के उपचार में सहयोग देने वाली जड़ी है । हृदय-रोगियों को भी इसके सेवन से काफी लाभ पहुंचता है । नेत्र रोगों के लिए तो बहुत ही लाभकारी सिद्ध हुई है...

Read More »

Medicinal use of Kasoda Plant in Weakness, Constipation, Body Head, Itching.

क्सौदा इसका पौधा धरती से दो-तीन फुट ऊंचा होता है, इसकी पत्तियां जामुन की पत्तियों जैसी ही, उसी आकार की होती हैं । इसकी कोई फसल नहीं बोई जाती । यह प्राकृतिक रूप से धरती से जन्म लेता है । इस पर पीले रंग के फुल आते हैं और चपटी फलियां फल के रूप में लगती हैं । फलियों के अंदर पपटे रंग के बीज होते हैं । कुछ लोग...

Read More »

Medicinal use of Sahdai “सहदेई” in Fever, Eye Disease and Headache

सहदेई सहदेई एक बूटी है जो प्राकृतिक रूप से जन्म लेती है । इसके पत्ते पुदीने और तुलसी जैसे होते हैं । इस पर सफेद फुल आते है । यह अधिकार पहाड़ी तलहटियों में पाई जाती है । गुण तथा लाभ सहदेई की लुगदी में पारा पाया जाता है । पुराने बुखार के लिए सहदेई के पत्ते काली मिर्च के साथ पीसकर खाएं तो बुखार से मुक्ति मिलेगी । सिरदर्द...

Read More »

Medicinal use of Borage and Burdock

Borage: Borago officinalis Part Used: The herb Pectoral, cordial, aperients Expels poisons. Rich in potassium and calcium. Comforts the heart when saddened with much grief. All the glandular system is gradually influenced by the singular action of Borage. Used to defend the heart in contagious or eruptive fevers. Seeds and leaves are said to increase mother’s milk. Good to bathe sore eyes. Valuable in hepatitis. Burdock: Arctium lappa,  Lappa minor...

Read More »

Medicinal use Asparagus for Heart and Eye Diseases

With the revival of our inherent therapy of Ayurveda, one herb that is often sought after and largely inquired is ‘Shatavari’ or Asparagus. It is a decorative herb that adds to the beauty of gardens. Yet, at the same time, it is gifted with distinguished medicinal properties of being potent, energizing and revitalizing and greatly invigorating. The Latin name of the herb is ‘Asparagus racemosus’ and in the local language,...

Read More »

Medicinal use of Amla

Amla Modern living is full of stress and strain and as a continuous process results in the deterioration of the immune system of the body. This makes the body more prone to aliments and even causes pre-mature aging. So as to cope with the stress. People tend to take a number of multi vitamins, body and brain tonics, and yet find themselves  disillusioned with the same in the long run....

Read More »

Sunflower Seeds are Valuable to Good Eye Health

The one part of the body which reacts more readily to conditions of poor health is the eyes. Regardless of what organ may be diseased, the signs first appear in the eyes. As long ago as 400 B.C., Hippocrates fed his patients the livers of birds to cure blindness. In the last forty years, science has proved why this cure worked.  A normal, wholesome diet will help to prevent and...

Read More »

अजवायन के फायदे, कानों के दर्द से लेकर आंखों की सफाई में है कारगर

भारतीय रसोई की एक खास चीज है अजवायन। खाने का स्वाद बढ़ाने से लेकर कई प्रकार की बीमारियों में इलाज के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। एसिडिटी, कब्ज, गैस आदि कई प्रकार की समस्याओं को दूर करने में अजवायन फायदेमंद है। अजवायन के प्रति 100 ग्राम में प्रोटीन 17.1 प्रतिशत, फैट 21.8 प्रतिशत, मिनरल्स 7.9 प्रतिशत, फाइबर 21.2 प्रतिशत और कार्बोहाइड्रेट 24.6 प्रतिशत मौजूद होता है। इसके अलावा...

Read More »

हाई ब्लडप्रेशर और सुगर से आँखों की कैसे की जाए सुरक्षा

आँखों को चाहिए सुरक्षा आँखें प्रकृति द्वारा मनुष्य को दिया गया एक ऐसा उपहार है जिनके बिना सारी दुनिया अँधेरी हो जाती है | आँखें मनुष्य के शरीर का सबसे सवेंदनशील हिस्सा है | आँखों की हिकाजत कितनी जरूरी है, इसका अंदाजा आप आँख बंद करके लगा सकते हैं | उम्र से पहले आँखों के कमजोर हो जाने के कई कारन होते हैं | आज की नई पीढ़ी को तो...

Read More »

क्यों होता है भैंगापन? जानिए भैंगापन से बचने के उपचार

भैंगापन से बचाव जन्म के बाद कुछ समय तक शिशु की आँखें चीजों पर एकाग्र नहीं हो पाती | चार माह की उम्र तक वे छोटी-छोटी चीजों पर दोनों आखें टिकाने लगते हैं | छ: माह की उम्र तक के बच्चे में यह सामर्थ्य आ जानी चाहिए की वह दूर की चीजों पर लगातार और पास की चीजों पर थोड़ी देर के लिए आँखें टिका सकें | भैंगापन उसे कहते...

Read More »

“Aloe Vera (ग्वारपाठा)” useful for Eye disease, Ear pain in Ayurveda

ग्वारपाठा इसका पौधा अधिकतर खुले मैदानी क्षेत्रों तथा जंगलों में प्राकृतिक रूप से जन्म लेता है । इसके लंबे-लंबे पत्ते होते हैं । रोग तथा उपचार नेत्र रोगों में उपयोगी ग्वारपाठा का अर्क निकालकर अथवा बाजार में किसी वैद्द की दुकान से लाकर रात को सोते समय आंख में डालते रहने से आंखों के हर प्रकार के रोग दूर हो जाते हैं । पित्त विकार तथा खांसी ऐसे सब रोगियों...

Read More »