Home » Posts tagged "Ear Diseases"

Hearing Impairment-Causes

Impairment of hearing ranks fourth among the top handicapping illnesses. Many who become hard of hearing, especially after middle age, do not need a hearing aid. Often wax collects in the ear canals, and, when removed by a doctor, hearing is often restored in minutes. It is best to let a doctor remove the wax for two reasons. First, the ear is a delioate organ and can be easily injured....

Read More »

अजवायन के फायदे, कानों के दर्द से लेकर आंखों की सफाई में है कारगर

भारतीय रसोई की एक खास चीज है अजवायन। खाने का स्वाद बढ़ाने से लेकर कई प्रकार की बीमारियों में इलाज के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। एसिडिटी, कब्ज, गैस आदि कई प्रकार की समस्याओं को दूर करने में अजवायन फायदेमंद है। अजवायन के प्रति 100 ग्राम में प्रोटीन 17.1 प्रतिशत, फैट 21.8 प्रतिशत, मिनरल्स 7.9 प्रतिशत, फाइबर 21.2 प्रतिशत और कार्बोहाइड्रेट 24.6 प्रतिशत मौजूद होता है। इसके अलावा...

Read More »

Best Domestic medicines prevents from diseases. Herbalogy

रोगों से बचाती है घरेलू औषधियाँ वह व्यक्ति भाग्यशाली होता है जिसे रोग नहीं घेरते | जो स्वस्थ रहकर अपनी जिंदगी का आनंद लेता है | किसी को भी रोग हो ही न तो अच्छा | यदि हो भी जाए तो उनसे छुटकारा पाने के लिए अपने डॉक्टर आप बनें | छोटे छोटे रोगों को प्राक्रतिक उपायों से दूर करना कठिन नही है | जरुर है इन्हें जानने और आजमाने...

Read More »

“Aloe Vera (ग्वारपाठा)” useful for Eye disease, Ear pain in Ayurveda

ग्वारपाठा इसका पौधा अधिकतर खुले मैदानी क्षेत्रों तथा जंगलों में प्राकृतिक रूप से जन्म लेता है । इसके लंबे-लंबे पत्ते होते हैं । रोग तथा उपचार नेत्र रोगों में उपयोगी ग्वारपाठा का अर्क निकालकर अथवा बाजार में किसी वैद्द की दुकान से लाकर रात को सोते समय आंख में डालते रहने से आंखों के हर प्रकार के रोग दूर हो जाते हैं । पित्त विकार तथा खांसी ऐसे सब रोगियों...

Read More »

Multiple uses of “Azadirachta Indica Tinospora नीम गिलोय (गुर्च) ” in Ayurveda

नीम गिलोय (गुर्च) पाठक जन इस विचित्र नाम को सुनकर चौंक उठे होने कि नीम और गिलोय एकसाथ दो नाम इकट्ठे ही कैसे जुड़ गए? वास्तव में यह नाम दो नामों के जुड़ने से ही बनता है | इसका कारण है कि नीम अपने आप में एक बहुत बड़ा वृक्ष है | गिलोय उस पर चढ़ी हुई बेल होती है जो इस वृक्ष के सहारे पलती है | गिलोय को...

Read More »