Home » Posts tagged "Skin Disease" (Page 3)

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Elephantiasis”,”Feel Panv ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

फील पांव (हाथी पांव) (Elephantiasis)  Elephantiasis- Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:- इस रोग में रोगी व्यक्ति के पैरों में इतनी सूजन आ जाती है कि उसका पैर हाथी के पैर के समान मोटा हो जाता है इसलिए इस रोग को हाथी पांव भी कहते हैं। यह रोग मनुष्यों के अण्डकोष, हाथ-पैरों पर अधिक होता है। फील पांव होने का कारण–            इस रोग के होने का सबसे प्रमुख कारण फाईलेरिया...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Cracked Heels”,”Pairo ki Biwai ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”—Part 2

फटी एड़ियां (Cracked heels)  Cracked heels- Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:- बहुत से लोग अपने शरीर की तो पूरी तरह से सफाई करते हैं लेकिन अपने पैरों की अच्छी तरह से सफाई नहीं करते जिसके कारण उनके पैरों पर मैल जम जाती है, पैरों की त्वचा मृत सी हो जाती है और जगह-जगह से फट जाती है। इस रोग के कारण रोगी के पैर के तलुवों तथा एड़ी में दरारें...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Washer man’s Itch”,”Dhobi Khujali ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

धोबी खुजली (Washer mans itch)  Washer man’s itch- Symptoms, Reasons, Causes परिचय:-   यह खुजली उन व्यक्तियों को होती है जो अधिक देर तक पानी में खड़े रहते हैं। इस रोग के कारण रोगी व्यक्ति के पैरों की उंगुलियों के जोड़ों में सड़न होने लगती है और उनमें तेज खुजली होती है तथा दर्द होता है। जब पैरों की उंगुलियां सूखी रहती हैं तो इस रोग के कारण और भी...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Cracked Heels”,”Pairo ki Biwai ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

बिवाइयां (Cracked heel)  Cracked Heels-Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:- बिवाइयां पैरों की मोटी त्वचा पर होती हैं और ये अधिकतर एड़ियों व तलुवों पर होती हैं। इस रोग के कारण रोगी को बहुत अधिक परेशानी होती है। इस रोग के कारण एड़ी तथा तलुवों के रोगग्रस्त भाग पर बहुत अधिक जलन तथा दर्द होता है। बिवाइयां रोग होने का कारण:- यह रोग उन व्यक्तियों को होता है जिनके पैरों के...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Bed Sore”,”Shaiyakshat ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

शैयाक्षत (Bed sore)  Bed Sore- Symptoms, Reasons, Causes परिचय:-   यह रोग उन व्यक्तियों को होता है जो किसी लंबे रोग या किसी और कारण से अधिक दिनों तक चारपाई पर पड़े रहते हैं। इस रोग के कारण रोगी व्यक्ति के पीठ पर घाव हो जाते हैं और रोगी व्यक्ति को इस रोग में बहुत अधिक परेशानी होती है। शैयाक्षत रोग का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार–           शैयाक्षत रोग का...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Excessive Sweating”,”Pasine ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

पसीना अधिक निकलना (Excessive sweating)  Excessive Sweating- Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:- शरीर से पसीना निकलना एक प्रकार की स्वाभाविक क्रिया है क्योंकि पसीना निकलने से शरीर की गंदगी बाहर निकल जाती है। लेकिन जब पसीना शरीर से बहुत अधिक निकलने लगता है तो यह एक प्रकार का रोग हो सकता है। जिसके कारण व्यक्ति को बहुत अधिक परेशानी होती है। इस रोग से पीड़ित रोगी को रात के समय...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Eczema”,”Khujali ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

खुजली (Eczema)  Eczema- Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:- खुजली एक प्रकार का संक्रामक रोग है और यह रोग त्वचा के किसी भी भाग में हो सकता है। यह रोग अधिकतर हाथों और पैरों की उंगुलियों के जोड़ों में होता है। खुजली दो प्रकार की होती है सूखी खुजली तथा तर या गीली खुजली। खुजली होने का लक्षण:-         जब खुजली का रोग किसी व्यक्ति को हो जाता है तो उस...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Pimples”,”Muhase ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

मुंहासे (Pimples)  Pimples- Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:- मुंहासे जवानी में होने वाला एक आम रोग है। इस रोग को यौवन पीड़िका भी कहते हैं तथा इसे अंग्रेजी में एकनी कहते हैं। इस रोग को कीलें निकलना भी कहते हैं। यह रोग जवान स्त्री-पुरूषों को होने वाला रोग है। यह रोग 13 वर्ष की आयु से लेकर 25 वर्ष की आयु तक होता है। इस रोग में चेहरे पर छोटे-छोटे...

Read More »