Home » Posts tagged "Skin Disease" (Page 2)

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Psoriasis”,”Apras ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”—part 2

सोरायसिस (Psoriasis)  Psoriasis- Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:- सोरायसिस रोग जब किसी व्यक्ति को हो जाता है तो जल्दी से ठीक होने का नाम नहीं लेता है। यह छूत का रोग नहीं है। इस रोग का शरीर के किसी भाग पर घातक प्रभाव नहीं होता है। जब यह रोग किसी को हो जाता है तो उस व्यक्ति का सौन्दर्य बेकार हो जाता है तथा वह व्यक्ति भद्दा दिखने लगता है।...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Tumour”,”Rasoli ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

मांसवृद्धि (Tumour)  Tumour- Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:-   टयूमर का रोग शरीर के भीतरी और बाहरी दोनों भागों में हो सकता है। इस रोग के कारण रोगी व्यक्ति के शरीर में गांठ, सूजन तथा गिल्टी हो जाती है। इस रोग के कारण रोगी व्यक्ति को बहुत अधिक परेशानी होती है। टयूमर होने का कारण :-      यह रोग उन व्यक्तियों को होता है जिनके शरीर में दूषित द्रव्य जमा...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Carbuncle”,” Carbuncle Foda ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

कारबन्कल फोड़ा (Carbuncle)  Carbuncle- Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:- कारबन्कल एक प्रकार का ऐसा फोड़ा होता है जिसमें कई मुंह निकलते हैं। यह फोड़ा गर्दन, पीठ, होंठ, मस्तक तथा जांघ पर होता है। यह साधारण फोड़े से लेकर कष्ठदायक फोड़े के रूप में भी हो सकता है। जब यह फोड़ा चेहरे या मस्तक पर होता है तो रोगी व्यक्ति को बहुत अधिक परेशान करता है। यह फोड़ा 40-42 वर्ष की...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Urticaria”,”Julpitti ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

जुलपित्ती (Urticaria)  Urticaria-Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:-   जुलपित्ती का रोग पानी में अधिक भीगने के कारण से होता है। इस रोग से पीड़ित रोगी के शरीर की त्वचा पर लाल रंग के हल्के चकत्ते के समान दाने हो जाते हैं। इस रोग के होने पर रोगी व्यक्ति को कभी-कभी बुखार हो जाता है तो कभी बुखार नहीं भी होता है। जुलपित्ती रोग का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार:- इस रोग...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Corns”,”Gokhru ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

गोखरू (Corns)  Corns- Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:-   गोखरू का रोग उन व्यक्तियों को होता है जो गलत साइज के जूते पहनते हैं। यदि कोई व्यक्ति जूता छोटा पहनता है तो उसके पैर के पंजे जूते के अगले भाग से दबने लगते हैं और लगातार पंजों पर दबाव पड़ने के कारण तथा पंजों के पास खुजली होने से पंजों के जोड़ बड़े हो जाते हैं और उनमें सूजन आ...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,” Pimples on beard”,”Dadi ki Funsiyon ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

दाढ़ी की फुन्सियां (Pimples of beard)  Pimples on Beard- Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:-   इस रोग में पुरुषों की दाढ़ी पर फुन्सियां निकलने लगती हैं। इन फुन्सियों के निकलने का सबसे प्रमुख कारण खून में विजातीय द्रव्य का जमा होना है। दाढ़ी की फुन्सियों का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार:- इस रोग से पीड़ित रोगी को सबसे पहले फल खाकर रहना चाहिए और इसके साथ-साथ एनिमा भी लेना चाहिए और...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Chicken pox”,”Chechak ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

चेचक (Chicken pox)  Chicken Pox- Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:- जब चेचक का रोग किसी व्यक्ति को हो जाता है तो इस रोग को ठीक होने में 10-15 दिन लग जाते हैं। लेकिन इस रोग में चेहरे पर जो दाग पड़ जाते हैं उसे ठीक होने में लगभग 5-6 महीने का समय लग जाता है। यह रोग अधिकतर बसन्त ऋतु तथा ग्रीष्मकाल में होता है। यदि इस रोग का उपचार...

Read More »

Herbal Home remedies for Skin Diseases,”Twacha Rog”,”Charm Rog”,”Bubo”,”Baghi Ghaw ka ilaj”, Symptoms, Reasons, Causes-“Herbal Treatment”

बाघी (Bubo)  Bubo-Symptoms, Reasons, Causes   परिचय:- यह एक प्रकार का घाव है जो रोगी की जांघ और जननेन्द्रियों के बीच ऊपर की तरफ पुट्ठों में निकलता है। जब यह रोग किसी व्यक्ति को हो जाता है तो सबसे पहले उसकी जननेन्द्रियों के पास सूजन हो जाती है, उसके बाद वहां एक कठोर सी गांठ बन जाती है। इन गांठों में कभी-कभी तो दर्द होता है और कभी-कभी दर्द नहीं...

Read More »