Home » Posts tagged "Indigestion"

“Haritaki”, “हरीतकी/ हरड़” Medicinal uses and Health Benefits, Dosage, Facts, Medicinal Properties & Side Effects, Complete Health Guide

  Haritaki, हरीतकी/ हरड़ Medicinal Benefits     Botanical Name-Terminalia chebula Common Name-Harad Family-Combretaceae (Haritaki Kul) Habit-Tree (60-80 ft. in height)   Properties Property-Lightness, Dryness Taste-Five tastes (except salt, mainly fragrant) Potency-Heating Metabolic Property-Sweet   Specific Property Tridoshar Stomachic Intellect promoting Rejuvenating Part Used-Fruit   Description-It is called as haritaki because it carries away all diseases or it is sacred to Siva (Hara). Haritaki has several interesting synonyms, portraying its...

Read More »

120 Simple Home Treatment/Remedies for “Indigestion” its symptoms and reason

Indigestion What is Indigestion: The digestion system becomes slow in this disease and the power of the stomach and intestines also become slow. Owing to it eatable diet does not digest properly. This condition is called indigestion or acidity. It occurs in the rainy season due to moisture and being germ in water that is called climate indigestion. Causes : Indigestion occurs because of many causes as- eating excessive spicy food,...

Read More »

Herbal Home remedies for Stomach Diseases, Stomach Inflammation, Reasons, Symptoms, Causes -“Herbal Treatment”

आमाशय में जलन (Stomach inflammation) Stomach Inflammation – Reasons, Symptoms, Causes   परिचय:- आमाशय में अम्लस्राव होने के कारण रोगी के पेट में दर्द तथा जलन पैदा होने लगती है। पाचनतंत्र के रोगग्रस्त होने के कारण पूरे पाचनतंत्र पर इसका असर होता है और एक अवांछित रासायनिक क्रिया होनी शुरू हो जाती है जिसके कारण बहुत से रोग पैदा हो जाते हैं और भोजन पचाने की क्रिया मंद हो जाती...

Read More »

Herbal Home remedies for Stomach Diseases, Flatulence , Reasons, Symptoms, Causes -“Herbal Treatment”

अफारा (Flatulence) Flatulence – Reasons, Symptoms, Causes   परिचय:-   इस रोग के कारण रोगी के पेट में गैस बनने लगती है जिसके कारण रोगी का पेट फूलने लगता है और पेट में दर्द होने लगता है। इस रोग को फ्लेटूलेन्स भी कहते हैं। इस रोग के कारण रोगी को डकारे भी आने लगती हैं। अफारा रोग होने का कारण:- जब कोई व्यक्ति वसामय भोजन को खाता है तो इसके...

Read More »

Herbal Home remedies for Stomach Diseases, Indigestion, Reasons, Symptoms, Causes -“Herbal Treatment”

अपच (बदहज़मी) (Indigestion) Indigestion-Reasons, Symptoms, Causes   परिचय:- अपच रोग आमाशय या आंतों के ठीक से काम न करने के कारण होता है। इस रोग के कारण रोगी व्यक्ति को खाया-पिया भोजन पचता नहीं है तथा उसे खट्टी डकारे आने लगती है। अपच रोग साधारण हो या बहुत अधिक यह आमाशय और आंतों की बहुत सारी बीमारियों के होने का कारण बनता है। आमाशय और आंतों की बहुत सारी बीमारियों...

Read More »

Herbal Home remedies for Stomach Diseases, Dysentery, Reasons, Symptoms, Causes -“Herbal Treatment”

पेचिश (संग्रहणी) (Dysentery) Dysentery – Reasons, Symptoms, Causes   परिचय:- पेचिश दस्त का ही एक रुप है। जब यह रोग किसी व्यक्ति को हो जाता है तो उसके शरीर में कमजोरी आ जाती है। इस रोग के कारण रोगी व्यक्ति की आंते कमजोर हो जाती हैं। पेचिश रोग के लक्षण– इस रोग से पीड़ित रोगी जब मलत्याग करता है तो उसके मल के साथ रक्त तथा तैलीय चिपचिपा पदार्थ भी...

Read More »

Herbal Home remedies for Stomach Diseases, Gastritis, Reasons, Symptoms, Causes -“Herbal Treatment”

  जठराग्नि का मंद पड़ जाना (गैस्ट्राइटिस) (Gastritis) Gastritis – Reasons, Symptoms, Causes   परिचय:- इस रोग के कारण रोगी की पाचन का कार्य मंद पड़ जाता है जिसके कारण रोगी के शरीर में अनेक प्रकार के रोग उत्पन्न हो जाते हैं और उसकी पाचन प्रणाली प्रभावित हो जाती है। जठराग्नि के मंद पड़ जाने का लक्षण:- इस रोग से पीड़ित रोगी को जी मिचलाना, पेट में अफारा, पेट में...

Read More »

Herbal Home remedies for Stomach Diseases, Duodenitis, Reasons, Symptoms, Causes -“Herbal Treatment”

ग्रहणीशोथ – Duodenitis Duodenitis – Reasons, Symptoms, Causes   परिचय:- छोटी आंतों को तीन भागों में बांटा जा सकता है – डुओडिनम (ग्रहनी) जेजुनम (मध्यांत्र) इलियम (रोशान्त्र)           जब पची हुई प्रोटीन, पचे हुए कार्बोहाइड्रेट और अनछुई वसा पेट के आंतों में जाती है तो आंत्र रस की मदद से ये सभी पदार्थ पूरी तरह से पच जाते हैं। यह रस आंतों में होने वाले स्राव, पित्त अम्ल तथा अग्न्याशय...

Read More »