Home » Posts tagged "Cough" (Page 3)

Medicinal use of Valerian in Hysteria, Menstruation, Measles, Scarlet fever, Restlessness

Valerian: Valerian officinalis Part used: Root Aromatic, stimulant, tonic, anodynem antispasmodic, nervine Excellent nerve tonic. Valuable in hysteria. Taken hot will promote menstruation. Excellent for measles, scarlet fever, restlessness, convulsions in infants. Useful in colic, fevers. Will break up colds. Good for gravel in bladder. Heals ulcerated stomach. Powerful preventive of fermentation and gas. Do not boil root. A little peppermint increases promptness of action. Excites the cerebro- spinal system....

Read More »

Medicinal use of Rosemary in Cold, Colic, Nervous Ailments

Rosemary: Rosemarinus officinalis Part used: leaves and flowers Stimulant, antispasmodic, emmenagogue, tonic, astringent , diaphoretic, carminative, nervine, aromatic, cephalic Old – fashioned remedy for colds, colic, nervous ailments. Very good for nervous headache. Good mouth – wash for gums, halitosis, sore throat. Helpful in insanity. Aids digestion, cough. Strengthens the eyes. Oil used for ointments, liniment and in perfumery. Helps a weak memory, quickens the senses, clears the vision. Best...

Read More »

Medicinal use of Pitvan in Weakness, Fever, Asthma, Diarrhea and Blood Clean

पिटवन यह बूटी अधिकतर बंगाल, असम, त्रिपुरा, सिकिक्म, भूटान में अपने-आप यानि प्राकृतिक रूप से पैदा होती है । इसके पत्ते गोल होते हैं । उनका रंग नीला तथा सफेद होता है । काम में इसकी केवल जड़ ही आती है । गुण तथा लाभ तासीर में गर्म, मधुर, सारक, कटुतिकत तथा शमन है । इससे त्रिदोष रोग का उपचार किया जाता है । मर्दाना कमजोरी में भी इसका सेवन...

Read More »

Medicinal use of Kasoda Plant in Weakness, Constipation, Body Head, Itching.

क्सौदा इसका पौधा धरती से दो-तीन फुट ऊंचा होता है, इसकी पत्तियां जामुन की पत्तियों जैसी ही, उसी आकार की होती हैं । इसकी कोई फसल नहीं बोई जाती । यह प्राकृतिक रूप से धरती से जन्म लेता है । इस पर पीले रंग के फुल आते हैं और चपटी फलियां फल के रूप में लगती हैं । फलियों के अंदर पपटे रंग के बीज होते हैं । कुछ लोग...

Read More »

Medicinal use of Velvet Plant in Cough, Cold, Colic and Diarrhea

पाढ़ पाढ़ कोई वृक्ष या पौधा नहीं बल्कि एक बेल होती है | इसके कोने में से सफेद और सूक्ष्म मोर के समान फुल निकलता है | इसके पत्ते गोल होते हैं तथा फल मक्का के दानों की भांति लाल होते हैं | गुण तथा लाभ पाढ़ उष्ण, चरपरा, कडुवा, पोक्षण तथा हल्का होता है | इसके द्वारा हम खांसी, नजला, जुकाम, शूल, ज्वर, अतिसार जैसे रोगों का उपचार कर...

Read More »

Medicinal use of Rasna in Fever, Stomach Disease and Cough

रास्ना रास्ना एक बेल की भांति बंगाल में प्राचीन वृक्षों पर उत्पन्न होकर फलती-फूलती है, (देखें चित्र, रास्ना की बेल एक पुराने वृक्ष से लिपटी हुई है) | रास्ना के फुल पीले रंग के होते हैं | फलियों के अंदर मोठ की भांति छोटे-छोटे दाने होते हैं | इसकी तासीर गर्म होती है | इसके सेवन से पाचन शक्ति बढ़ती है | खांसी के रोग को दूर करता है |...

Read More »

Medicinal use of Betel in Cough and Digestion

सुपारी सुपारी का वृक्ष बहुत लंबा होता है, इसका आकार नारियल के वृक्ष जैसा होता है, यह अधिकतर सागर तट पर पैदा होते हैं। सुपारी के बड़े-बड़े बाग झुंडों के रूप में नजर आते हैं। यह प्राकृतिक रूप से जनम लेने वाला वृक्ष है । जैसा आप वृक्ष के साथ लटक रहे बड़े-बड़े गुच्छों को देख रहे हैं, इन गुच्छों को यदि फोड़ा जाए तो इनके अंदर से सुपारी निकलती...

Read More »

Medicinal use of Catnip and Chickweed

Catnip: Nepeta cataria, Nip Part Used: The whole herb Carminative, stimulant, tonic, diaphoretic, antispasmodic, aphrodisiac Excellent for its quieting effect on the nervous system. Use as an enema for children, especially in convulsions. Very useful in pain of any kind, for spasms, insanity, fevers, colic, hysteria, amenorrhea, emmenagogues, nervous headache. An enemy of catnip will cause urination   when it has stopped. Catnip, sweet balm, marshmallow and sweet weed (liquorice) make...

Read More »