Home » Posts tagged "Urinary Stones"

गेहूं के औषधीय गुण, जानिए वीर्यपात, नपुंसकता, बालतोड़ और पथरी में गेहूं किस प्रकार काम आता है |

गेहूं  से बिमारिओं की उपचार  खासी – 20 ग्राम गेहू के दानो की नमक मिलाकर २५० ग्राम जल में उबाल ले और एक –तिहाई मात्रा में रहने पर किचित गरम-गरम पी ले | ऐसा लगभग एक सप्ताह करने से खासी जाती रहेगी | अनेछिक वीर्यपात – रात लो सोते , पेशाब के साथ या पेशाब करने के पश्चात अनिच्छा से वीर्य निकलने की सिथति में अक मुठी गेहू लगभग बाहर ...

Read More »

गुर्दे और मूत्राशय में पथरी के लक्षण

पथरी से पेटदर्द पेट दर्द के लिए पथरियाँ भी जिम्मेदार हो सकती हैं, जो प्राय: मूत्र-तंत्र, पित्त की थैली, पित्त नली या पोनिक्रयास में पायी जाती हैं | दर्द ही नही, पेट की पथरियाँ पेशाब में जलन, मूत्र का बार-बार आना या खून आना, गैस अपचन, पीलिया, डायबिटीज जैसी परेशानियाँ भी उत्पन्न कर देती हैं | बहुत से रोगियों में तो पथरी होने के बावजूद भी बहुत समय तक इनका...

Read More »

“Horsegram (कुलथी)” is beneficial for Urinary stones, Fever, Avoided

कुलथी कुलथी एक ऐसी जड़ी है, जो आम जंगलों और खुले मैदानी भागों में प्राकृतिक रूप से जन्म लेती है | यह जड़ी अधिकतर इन रोगों को नष्ट करने के काम आती है – मूत्राशय की पथरी इन रोग का नाम लेते ही लोग ऑपरेशन की ओर जाने की बात सोच बैठते हैं | कुच्छ लोग ऑपरेशन की चीर-फाड़ से डरते हैं | ऐसे लोगों के लिए कुलथी एक वरदान...

Read More »