बालों के लिये 26 प्रभावशाली उपाय।

1) घी खाएं और बालों के जड़ों में घी मालिश करें। 2) गेहूं के जवारे का रस पीने से भी बाल कुछ समय बाद काले हो जाते हैं। 3) तुरई या तरोई के टुकड़े कर उसे धूप मे सूखा कर कूट लें। फिर कूटे हुए मिश्रण में इतना नारियल तेल डालें कि वह डूब जाएं। इस तरह चार दिन तक उसे तेल में डूबोकर रखें फिर उबालें और छान कर...

Read More »

अजवायन के फायदे, कानों के दर्द से लेकर आंखों की सफाई में है कारगर

भारतीय रसोई की एक खास चीज है अजवायन। खाने का स्वाद बढ़ाने से लेकर कई प्रकार की बीमारियों में इलाज के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। एसिडिटी, कब्ज, गैस आदि कई प्रकार की समस्याओं को दूर करने में अजवायन फायदेमंद है। अजवायन के प्रति 100 ग्राम में प्रोटीन 17.1 प्रतिशत, फैट 21.8 प्रतिशत, मिनरल्स 7.9 प्रतिशत, फाइबर 21.2 प्रतिशत और कार्बोहाइड्रेट 24.6 प्रतिशत मौजूद होता है। इसके अलावा...

Read More »

“चुम्बक चिकित्सा” प्राकृतिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए अपनाये यह चिकित्सा

चुम्बक चिकित्सा जैसा की सभी लोग इस बात को जानते हैं कि पृथ्वी भी स्वयं एक लौह चुम्बक है, और उसका अपना एक निश्चित चुम्बकीय क्षेत्र है, और ठीक इसी प्रकार से सूर्य, चन्द्रमा एवं अन्य आकाशीय पिंडों के भी अपने-अपने निश्चित चुम्बकीय क्षेत्र होते हैं। इस प्रकार से इस विद्युत चुम्बकीय क्षेत्रों के बीच जन्म लेने वाला मानव शरीर भी चुम्बकीय बलों के द्वारा संचालित होने वाला और उन...

Read More »

” चिकनगुनिया ” से बचाव के लिए घेरेलु नुस्खे |

चिकुनगुनिया एक तरह का वायरल बुखार है जो कि मच्छरों (mosquito) के कारण फैलता है। चिकुनगुनिया अल्फावायरस (alphavirus) के कारण होता है जो मच्छरों के काटने के दौरान मनुष्यों के शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। चिकुनगुनिया में जोड़ों में दर्द (joint pain), सिर दर्द (headache), उल्टी (vomit) और जी मिचलाने (nausea) के लक्षण उभर सकते हैं जबकि कुछ लोगों में मसूड़ों और नाक से खून (blood from gums and...

Read More »

बस 1 मिनट हाथ की ऊँगलियों को रगड़ने से शरीर का दर्द गायब हो जाता है।

संवेदनशीलता की प्राचीन जापानी कला के अनुसार, प्रत्येक ऊँगली विशेष बीमारी और भावनाओं के साथ जुड़ी होती हैं। हमारे हाथ की पाँचों ऊँगलियाँ शरीर के अलग अलग अंगों से जुड़ी होती हैं। इसका मतलब आप को दर्द नाशक दवाइयाँ खाने की बजाए इस आसान और प्रभावशाली तरीके का इस्तेमाल करना करना चाहिए । आज इस लेख के माध्यम से हम आपको जानेंगे, के शरीर के किसी हिस्से का दर्द सिर्फ...

Read More »

Apricot fruit “Khumani” medicinal value in China, Greece, Italy and England

Apricot  The apricot is said to have originated in China. It spread from there to other parts of Asia, then to Greece and Italy. As early as 1562 there is mention of the apricot in England in Turner’s Herbal. It is recorded that the apricot grew in abundance in Virginia in the year 1720. In 1792 Vancouver. The explorer. Found a fine fruit orchard that included apricots at Santa Clara,...

Read More »

Ayurveda Fruit “Apple” Egyptians used the apple as both a food and a medicine.

APPLE One of the first things a child learns is the alphabet, and almost always, “A is for apple.” The apple has been around for so long that it can be called the first fruit. Hieroglyphic writings found in the pyramids and tombs of the ancient Egyptians indicate that they used the apple as both a food and a medicine. It not only has been at the beginning of alphabet...

Read More »

कुछ सावधानियां बचा सकती है आपको पेट की गड़बड़ियों से

पेट की गड़बड़ियों से बचाव पेट बुरी तरह दुःख रहा है … आफता चढ़ा है, गैस तट्रबल होने लगी …. यानि कि पेट न हुआ तमाम किस्म की गड़बड़ियों का डिब्बा हो गया और इन गड़बड़ियों का सात संबंद होता है – लिवर या यकृत से | शरीर में पी जाने वाली ग्रंथियों में य्रकृत (लिवर) सबसे बड़ी ग्रंथि (ग्लेंड) है | अपना काम चलाने के लिए शरीर को जिन...

Read More »

मदात्यय के लक्षण और मदात्यय का घरेलू उपचार

मदिरापान वर्तमान भारतीय सन्दर्भों में ‘मदिरापान’ एक चिंतनीय विषय है | अविधिपुर्वक तथा अनियंत्रित रूप से मदिरा-पान करने वाले लोग आज प्रचुरता में उपलब्ध हैं | मदात्यय के लक्षण इस रोग से पीड़ितों को अनिद्रा, प्यास, ज्वर, शरीरिक जलन. पसीना अधिक आना, मूर्च्छा, अतिसार, सर में चक्कर, वमन, भोजन के प्रति अरुचि, जी मिचलाना, तन्द्रा, गीले कपड़े को शरीर पर लपेटे हुए जैसा अनुभव होना, भारीपन इत्यादि उपद्रवों से जूझना...

Read More »

मानसिकता के संभावित कारण और उपचार

मानसिकता साधारणतया जनमानस में एक धारण बनी हुई है की मानसिक रोग एक ही प्रकार का होता है | ऐसा नहीं है | नवीनतम अंतरर्राष्ट्रीय वर्गीकरण के अनुसार मानसिक रोगी को लक्षणों एवं कारणों के आधार पर एक सौ बड़े समूहों एवं प्रत्येक को दस-दस उपवर्गों में विभक्त किया जा सकता है | विखण्डित मानसिकता इन्हीं बड़े स्मोहों का एक गंभीर एवं जटिल मनोविकास है | इसके होने पर रोगी...

Read More »

भूख का लगना अच्छे स्वास्थ की निशानी

भूख का लगना भूख शरीर की एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है | भूख शरीर में वह रासायनिक बोध है जो हमें स्वस्थ रहने के लिए आवश्यक खाद्य पदार्थों को ग्रहण करने के लिए प्रेरित करती है | शरीरिक क्रियाओं के सुसंचालन के लिए शरीर विभिन्न पोषक पदार्थों की मांग करता है और भूख रासायनिक बोध के रूप में इस मांग को पूरी करने में शरीर की मदद करती है | अगर...

Read More »

किन-किन कारणों से होता है वाइरल फीवर

वाइरल फीवर समस्त उत्तरी भारत इस समय ‘वाइरल फीवर’ की चपेट में है | कहीं डेंगू वाइरस से गर्दन तोड़ बुखार फैला है तो कहीं मोतीझरा (टाइफाइड) ने बुखार के साथ-साथ लाल-लाल दाने, पेट दर्द, पतले दस्त और हाथ-पांव में अकडन पैदा करके जान सांसत में डाल दी है | तीसरी आफत है वही मलेरिया, जिसमें वाइरस की बजाय प्लासमोडियम नामक मलेरिया परजीवी कंपकंपी के साथ एक दिन छोड़कर तेज...

Read More »