Home » Archive by category "Ayurvedic Help"

Peppermint Tea fight Bad Breath

Halitosis has far deeper origins than decaying food are maiming in the mouth or decayed teeth. When the bowels are toxic, the saliva contains indicate which causes bad breath. Bad berth can be caused when fats, stored in the tissues, pass into the bloodstream, circulate to the lungs and then escape in the form of gases. Also unpleasant gases, formed by offending substances you may have eaten, get into the...

Read More »

Deal Backache with Swamp root, Pumpkin seeds, Nettle, Tansy, Uva ursi, Buchu and Wood betony

Backache is one of the most prevalent and perhaps the most painful ailment. Low backache is a common complaint in the earlier stages of osteoporosis. In osteoporosis the bones are soft or porous and may be due to a shortage of calcium Backache may also be due to constipation, the self-poisoning from absorption of toxic substance from the bowel into the bloodstream. The resulting debilitating state of health robs bloodstream....

Read More »

Exercise, Rest, Relaxation, Proper food, Vitamin and Minerals are good therapy for Arthritis

Arthritis is an inflammation of the connective tissue in the joints. Pain is not the disease itself. It is the result of a long standing nutritional imbalance. Our modern, improper diets and stresses encourage the formation of toxins in the digestive tract. At one time teeth, tonsils and appendix were removed because they were thought to be the source of toxins that caused arthritis. However, when arthritics still had their...

Read More »

Importance of Herbs in Ayurveda

Herbs in Ayurveda As per Ayurveda , herbs are used both in the form of food as well as medicine. The basic aim of Ayurvedic therapy is firstly to restore the healthy individual, and secondly to do away the affliction of the diseased one. Therefore, in order to achieve either of these objectives, A herb comes into use. Ayurvedic treatment rests on four pillars viz. doctor, patient, helper and drug....

Read More »

कुछ आयुर्वेदिक उपचार आपकी अच्छी सेहत के लिए।

आयुर्वेदिक इलाज मानव शरीर के भिभिन्न अवयवों में टांसिल्स का भी महत्वपूर्ण स्थान है | ये गले में श्वासनली और अन्ननली के साथ स्थित होते हैं | यह ग्रंन्थि मुँह में से होकर श्वासनली में प्रविष्ट होने वाले संक्रम्कों को रोकने का महत्वपूर्ण कार्य करती है | यधपि मानव शरीर में तीन प्रकार के टांसिल्स होते हैं | जजों तालू व् जीभ के अन्त में स्थित होते हैं लेकिन समान्यत:...

Read More »

How to make effective Nervous system, heart, and brain function by Home Remedies.

नाड़ी तन्त्र, मन तथा मस्तिष्क द्वारा कार्य  हमारे शरीर में नादियों का एक बड़ा जाल है | बहुत तो सीधे मस्तिष्क से संबंधित है जबकि कुछ मेरुदंड से भी किंतु प्रत्यक्ष या परोक्ष में इनका संबंध मस्तिष्क से बना रहता है | यदि हमारा नाड़ी तन्त्र स्वस्थ है तो मस्तिष्क भी ठीक प्रकार से कार्य करता है | हमारा मस्तिष्क पुरे शरीर से काम लेता है | हर अंग की...

Read More »

How to reduce “Headache” with the help of Home Remedies

सर दर्द : कारण तथा  निवारण  सिर दर्द रोग नहीं, रोगों से बचने के लिए प्रकृति द्वारा की महत्वपूर्ण क्रिया है | हमें यह चेतावनी है की खान पान तथा जीवन शैली को सुधारें | तन तथा मन दोनों विश्राम माँगते है | उन्हें कुछ आराम दें | नापने शरीर के साथ होने वाले गलत व्यवहार को को सुधारें | किंतु हम इसे समझते नहीं कारण :- हमारें भोजन में...

Read More »

How to boost own confidence, To stay mentally healthy also requires confidence, Home Remedies

आत्मविश्वास में कमीं  न आने दें    मानसिक तौर पर स्वस्थ रहने के लिए भी आत्मविश्वास की जरूरत होती है | विपरीत हालात होते हुए भी वह सुखी रह जाएगा | भागमभाग की दुनिया में भी वह सुखी रह सकता है | चिंता तथा तनाव से बचकर चलना आज बहुत कठिन है | निराशावादी होंगें, आत्मविश्वास में कमी होंगी तो और भी मुश्किल | शरीर तथा मन का घनिस्ट सम्बन्ध...

Read More »

Simple treatment of vomiting, Home Remedies.

उलटियां रोकने के सरल घरेलु उपचार उल्टियाँ आने के कारण तथा उपचार इस प्रकार है – जी मिचलाने से भी उलटी आ जाती है | जिसे अम्ल पित्त की तकलीफ हो, उसे भी उलटी आ जाती है | पाँव भरी होने पर भी उलटी आ जाती है | सामान्य उलटी हो तो कोई बात नहीं, अधिक उल्टियाँ आएं तो उपचार जरूरी | यदि आप यात्रा में हैं तो अपनी जेब...

Read More »

Best Domestic medicines prevents from diseases. Herbalogy

रोगों से बचाती है घरेलू औषधियाँ वह व्यक्ति भाग्यशाली होता है जिसे रोग नहीं घेरते | जो स्वस्थ रहकर अपनी जिंदगी का आनंद लेता है | किसी को भी रोग हो ही न तो अच्छा | यदि हो भी जाए तो उनसे छुटकारा पाने के लिए अपने डॉक्टर आप बनें | छोटे छोटे रोगों को प्राक्रतिक उपायों से दूर करना कठिन नही है | जरुर है इन्हें जानने और आजमाने...

Read More »

Medicinal uses of “Chameli” in Ayurveda

चमेली संस्कृत नाम – ज्ञाती चमेली अपने फूलों के कारण काफी लोकप्रिय है,  इसका पौधा छोटा सा ही होता है | पते हरे, फुल सफ़ेद होते हैं | इसके फूलों को जो कोई सिरदर्द का रोगी सूंघ लें तो सिरदर्द दूर हो जाता है | चमेली के फूलों का गंध ह्रदय रोगियों के लिए बहुत लाभकारी है | जिन लोगों के मुहं में छाले रहते हों उन्हें चमेली के पते...

Read More »

Medicinal uses of herbal plant “Ativisha” in Ayurveda

अतिविषा यह चिरआयु वाला पौधा होता है | इसकी लंबाई करीब 30 से.मी. लेकर 100 से. मी. तक होती है | इस पर नीले रंग के फुल आते हैं | इस पर पांचधारी वाला काला फल लगता है जिसके अंदर 20 से 25 तक बीज होते हैं | यह पौधा हिमालय पहाड़ की 2100 से.मी. से लेकर 3800 से.मी. तक की ऊंचाई पर पाया जाता है, जिसे आप जुलाई, अगस्त,...

Read More »