Home » Cause and Prevention » What is the “Importance of body massage”, Home Remedies.

शरीर की मालिश का बहुत महत्व 

तेल की या घी से मालिश करने या कराने की भारत में सदियों पुराणी परंपरा है |

जरूरी नहीं की पहलवान ही मालिश करवाते है, वह सबके लिए उपयोगी है |

herbal body massage

  • समान्य स्वास्थ्य वाले व्यक्ति के लिए मालिश शरीर में संजीवनी का सा संचार कर देती है, जबकि साधारण रोग वाले व्यक्ति को मालिश से स्वास्थ्य लाभ मिल जाता है | उसका रोग शांत होता है | शरीर को शक्ति मिलती है | रोगों से लड़ने के लिए प्रतिरक्षा शक्ति में वृद्धि होती है | इसको अपनाना एक अच्छी आदत होती है |
  • मालिश आमतोर पर सरसों के तेल से ही की जाती है | किंतु देशी घी, जैतून का तेल तथा बादाम रोगन पा सकें तो कभी कभी इनसे भी मालिश करें |
  • मालिश भी एक व्यायाम है जो बड़ा सरल तथा उपयोगी होता है |
  • मालिश भी एक ब्यायाम है जो शरीर में गर्मी पैदा करता है | जिससे रक्त पुरे शरीर में तीव्रता के साथ दौरा करने लगता है |
  • जब रक्त का दौरा तेज होगा तो रक्त में तथा शरीर में तिव्रता के साथ दौरा करने लगता है |
  • मालिश की विशेषता है की यह त्वचा तथा चेहरे को निखार देती है |
  • मालिश से कब्ज खत्म होती है | पाचन शक्ति तेज होती है |
  • जो व्यक्ति अपने सिर की नियमित मालिश करते है उनका मस्तिष्क भी तेज हो जाता है |
  • किसी भी छोटे छोटे अंग में विकास रुक गया हो तो दिन में तीन बार लगातार मालिश करने से अंगों का विकास समान्य हो जाता है |
  • चोट लगने पर,. मालिश करने से सुजन नही होती |
  • मालिश में असावधानी करना, लाभ की जगह हनी करता है | अतः जानकार से सीखकर अपनाएं
  • पेट विकार या स्वाश रोग होने पर मालिश मत करें
  • मालिश के तुरंत बाद शरीर को ढक लें | हवा न लगे इन कुछ बातों को धन में रखकर मालिश से स्वास्थ्य सुधर संभव है |

About

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name
Email
Website