Cause and Prevention

“Runny nose, cough and treat Sneeze (नाक बहना, जुकाम तथा छींकों का उपचार)” Cause and Prevention

Category: Cause and Prevention Written by Jaswinder Singh / August 11, 2016

नाक बहना, जुकाम तथा छींकों का उपचार

देखने में लगता है कि ये बड़े मासुली विकार हैं | ऐसा तो कुछ भे नहीं कि इनके उपचार की बड़ी चिंता करें | मगर नहीं | इसको कभी गिड़ने मत दें | शुरू में ही इलाज कर, स्वस्थ हो जाएँ | लापरवाही महँगी पड़ सकती है | अत: समय रहते संभलें |

इन रोगों का कारण हो सकता है | धुआं, धुल, गर्द, नापसंद गंध, मौसम में तबदीली, कुछ भोज्य पदार्थ भी | यह एलर्जी ही तो है |

जो एंटी अलार्जिक दवाओं पर आ जाते हैं | उनकों स्थाई लाभ नहीं होता |

रोग का जो भी कारण हो, उस कारण को दूर करें |

प्रात:काल पानी में नींबू मिलाकर पीना, रोग को शांत भी करता है तथा प्रतिरक्षा क्षमता बढ़ाता है |

अधिक तेल-घी मुक्त पदार्थ, अधिक मसाले, मिर्च मत लें |

ऐसे रोगों में दही सेवन भी ठीक नहीं | ठंडे पदार्थ खाना तथा ठंडे पेय पीना भी रोग बढाते हैं | इनसे बचें |

ऐसी अवस्था में आलू, दूध आदि का सेवन कम कर दें |

धुम्रपान या किसी भी रूप में तंबाकू सेवन बंद करें |

मौसमी फलों का सेवन करें | संतरा, मौसमी अच्छे रहेंगे |

गाजर का सेवन, गाजर का रस रोग को कम करते हैं |

टमाटर,पुदीना आदि भी इस रोग को ठीक करते हैं |

आम, अमरुद, अंगूर, सेव खाना अच्छा रहेगा |

एक-दो चम्मच गुनगुना पानी लें | इसमें चुटकी भर नमक डालें | इसे अपने दोनों नथुनों में चढ़ाएँ |

गुनगुने पानी में नमक डालकर नियमित गरारे करने से यह रोग शांत हो जाता है | कफ का प्रभाव खत्म होता है | गला ठीक हो जाता है और आराम मिलता है |

कब्ज नहीं होगी तो यह रोग भी नहीं रहेगा | हरी पत्तेदार सब्जियाँ खाना कब्ज भी दूर करता है, अन्य रोग भी शांत |

नाक बहना, जुकाम रहना, छींकें आना, इन सबको ठीक करने के लिए चने के आटे की रोटी बहुत उपयोगी रहती है |

इसे देसी घी के साथ खाना बेहतर रहेगा |

चने को अंकुरित करके खाना अधिक फायदा करता है |

भुने चनों की भाप या नाक को सेंक बहुत फायदा देती है | भुने गरम चने या जैसे भी हो, खाने से भी लाभ मिलता है |

सरसों के तेल को नाक में लगाने से भी काफी आराम मिलता है | न तो ये रोग पेचीदा है, न ही इनके उपचार ही कठिन | किंतु यदि रोग को बढ़ने देंगे, लापरवाही करेंगे तो ये बिगड़कर समस्या बन सकते हैं | बचाव करेंगे तो सुखी रहेंगे |

कुछ उपचार तो करें ही, ऊपर बताए परहेज भी अपनाने चाहिए | रोग का आधार ही खत्म कर दें |

Runny nose, cough and treat Sneeze

To see that these disorders are major. Sent so that they do not care so much for the treatment. Buts, do not ever let it spoil. Early intervention, and become healthy. Negligence may be expensive. So in time be careful.

These diseases may be caused. Smoke, dust, dirt, smell like, weather modification, even some food items. If this is the allergy.

Alarjik antidepressant drugs which are on. Sustainability does not benefit them also.

Whatever the cause of the disease, to remove the cause.

The morning to drink water mixed with lemon, enhances immunity to disease and does cool.

Ghee oil-free foods, more spices, peppers not stay.

Such diseases are also not consumed yogurt. Eat cold foods and cold drinks that increase the disease. Avoid them.

In this condition, potatoes, milk and reduce intake.

Stop smoking or tobacco in any form.

Eat seasonal fruits. Orange, seasonal good will.

Eat carrots, carrot juice can reduce disease.

Tomato, mint, etc. to cure this disease.

Mango, guava, grapes, save the food will be good.

Take one or two tablespoons warm water. The pinch salt. Offer your two nostrils.

Regular gargle warm salt water goes down to the disease. The effect of the cuff end. Throat goes well and get comfortable.

Constipation is not a disease, it will not. Clears constipation is to eat green leafy vegetables, other diseases too cool.

Runny nose, cough, stay, come sneeze, gram flour bread to fix all this is very useful.

It will be better to cook with ghee.

The advantage is that sprouted grains and eat more.

Steam or nose of roasted chickpea toast is very good. Hot roasted chickpeas or anyway, also benefits from eating.

In the nose by applying mustard oil to get enough rest. The disease is neither complicated nor difficult to get their treatment. But the progression of the disease will become negligent when the problem worsened. If the defense will be happy.

And do some treatment, avoiding the above should also adopt. The basis of the disease itself put an end.

Thank for sharing!

About The Author


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *