Home » Cause and Prevention » In the summer season the choice of diet – ग्रीष्म ऋतू में आहार का चुनाव

ग्रीष्म ऋतू में आहार का चुनाव

मौसम गर्मी का हो तो अपने आहार का, खान-पान का चुनाव बड़ी सूझ-बुझ से लेना होता है | वास्तव में इस मौसम में हमें दिन-भर प्यास लगती रहती है और हम पानी पीते रहते हैं | पेट जल्दी भर भी जाता है तथा जल्दी ख़राब भी हो जाता है | अत: सावधानी से भोजन करना होता है |

इन दिनों शरीर में पानी तथा लवणों का संतुलन बिगड़ जाता है इनकी कमी होना आम बात है | डीहाईड्रेशान न हो तथा पानी व लवणों की कमी न हो, इस बात का ध्यान रखते हैं |

नींबू पानी, नारियल का पानी विभिन्न पारकर की ठंडाई या शर्बत लेने की सलाह दी जाती है | नींबू पानी में काला नमक मिलाकर पीना भी ठीक रहता है |

फालसे से बना शर्बत, गुलाब का रस, अनार का जूस तथा भुने हुए अनार का पना पीना बेहतर रहता है |

शरीर की गर्मी कम करने तथा पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए धनिया, प्याज, पुदीना आदि की चटनी जरुर बनानी चाहिए |

घीया, लहसुन, प्याज, कददू, करेला आदि का सेवन बढ़िया माना जाता है | 

ग्रीषम ऋतू में तले पदार्थो का सेवन कम-से-कम करें |

कुछ लोग गर्मी में इमली इसलिए नहीं लेते कि यह खट्टी है या फिर सस्ती चीज है | किंतु इसे घोलकर पीना उत्तम है |

गर्मी के मौसम में खीरा, ककड़ी, हर परकार का सलाद, अरहर व मूंग की दाल जरुर खाएँ | ये शांति प्रदान करेंगे |

गर्मी से राहत पाने के लिए चना, गेंहूँ, जौ आदि खाएँ |

ग्रीषम ऋतू है | शरीर की व्याकुलता बचाने के लिए दही, दही की लस्सी, ठंडा दूध, दूध की लस्सी का पान करें |

गर्मी तथा लू से बचाव के लिए खरबूजा, तरबूज का रस, आलू बुखारा, अनार का रस, अनारदाना, टमाटर आदि का अधिक प्रयोग करें | राहत पाएँगे |

इन ऋतू में हरे पत्ते वाली साग-सब्जियाँ जरुर खाएँ |

प्यास बुझाने के लिए पेयजल भी जरुर लिया करें |

गर्मी के दिनों में पेटभर भोजन न खाने से अधिक सुखी होते है |

लू तथा गर्मी से बचने के लिए पानी पीकर ही घर से निकला करें | इसे जरूरी समझें |

भले ही घर में फ्रिज हो, यदि घड़े-सुराही का पानी भी उपलब्ध हो जाए तो क्या कहने |

In the summer season the choice of diet

Summer is the season of your diet, food has to choose from a large discreet extinguished. In fact this season we are thirsty and we drink water throughout the day and live. Belly is filled quickly and soon becomes impaired. So you have to eat carefully.

These days, body water and salts balance is disrupted their deficiency is common. Lack of water and salts which may not be Dihaidreshan, keep this in mind.

Lemonade, coconut water or juice to Thandai of various Parker advised. Black salt into lemonade drink is fine.

Made false sorbet, rose juice, pomegranate juice and roasted pomegranate drink imagination is better.

Reduce heat and increase the body’s digestive coriander, onion, mint sauce and definitely should.

Soap, garlic, onion, pumpkin, bitter gourd, etc. is considered good eating.

Grism season at decreasing the intake of fried items.

Some people do not take the heat so that the sour tamarind or cheap stuff. But it is better to drink dissolved.

In the summer, cucumber, cucumber, salad every compasses, tur and moong dal must eat. These will provide peace.

To get relief from the heat, gram, wheat, barley and eat.

Grism the season. Distraction of the body to protect the curd, lassi yogurt, cold milk, drinking milk or buttermilk.

And to prevent heat stroke cantaloupe, watermelon juice, plum, pomegranate juice, Anardana, tomatoes etc. Use more. Find relief.

Eat green leafy greens and vegetables in season in course.

Sure to have potable water to quench thirst.

Square meal to eat in the summer are happier.

To avoid heat stroke and heat water to drink out of the house. Understand it necessary.

Even if the house is in the fridge, if the pitcher to say what happens in case some water-jug.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name
Email
Website