Home » Herbal Medicine Plants » “Cranberry (करौंदा)” Advantages and Properties in Ayurveda

करौंदा

kraundaकरौंदा का पेड़ एक वृक्ष की भांति होता है । इसके दो रूप हैं…. एक तो जंगली जो जंगलों में पैदा होते हैं । दूसरी, देसी जो मैदानी क्षेत्रों के खेतों में पैदा होता है ।

देसी करौंदे काफी बड़े होते हैं | करौंदे की जड़ को पीसकर पिलाने से हर प्रकार के विष प्रभावहीन हो जाते हैं ।

लाभ तथा गुण

करादा की चटनी अरुचि को दूर करती है ।

खुजली रोग में

करौंदे की जड़ पानी में पीसकर खारिश, खुजली, दाद वाले स्थानों पर प्रतिदिन लेप करने से सब रोग ठीक हो जाते हैं ।

Cranberry

kraunda1Cranberry tree is like a tree. The two forms are born …. so wild forests. Second, the plains of the country in the fields arises.

Indian gooseberries are much larger. Grind the root of all kinds of gooseberries drink poison become ineffective.

Advantages and Properties

 Kraunda distaste eliminates sauce.

Itching disease

Grind the root of gooseberries water mites, scabies, ringworm cure all locations that are applying everyday.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name
Email
Website