Herbal Medicine Plants

Multiple uses of “Azadirachta Indica Tinospora नीम गिलोय (गुर्च) ” in Ayurveda

Category: Herbal Medicine Plants Written by Jaswinder Singh / December 22, 2016

नीम गिलोय (गुर्च)

gloy1पाठक जन इस विचित्र नाम को सुनकर चौंक उठे होने कि नीम और गिलोय एकसाथ दो नाम इकट्ठे ही कैसे जुड़ गए? वास्तव में यह नाम दो नामों के जुड़ने से ही बनता है | इसका कारण है कि नीम अपने आप में एक बहुत बड़ा वृक्ष है | गिलोय उस पर चढ़ी हुई बेल होती है जो इस वृक्ष के सहारे पलती है | गिलोय को इस बेल के चित्र में देख सकते हैं |

     नीम वृक्ष पर चढ़ी इस बेल को साधारण न समझें इसके अंदर बड़े-बड़े गुण हैं जिन के विषय में बहुत कम लोगों के ज्ञान हो पाता है जैसे कि बुखार रोगियों को गिलोय का सत निकालकर शहद के साथ मिलाकर दिन में चार-पांच बार दिया जाए तो बुखार उतर जाता है |

एक ग्राम गिलोय, छ: दाने काली मिर्च, कुछ सेंधा नमक इन सबको पीसकर थोड़े पानी में घोलकर गर्म करें | जब यह पानी उबलने लगे तो नीचे उतारकर उसे छान लें | थोड़ा कुनकुना ही बुखार के रोगी को पिला दें तो बुखार शीघ्र उतर जाएगा |

खुनी बवासीर के रोगियों के लिए

गिलोय ½ ग्राम

वंशली चन 1/6 ग्राम

ग्राम इलायची 6

नग मिश्री 10 ग्राम

इन सबको मिलाकर पीस लें फिर बारीक छलनी या कपड़े में छानकर निरंतर बीस दिन तक सेवन करें तो खुनी बवासीर ठीक हो जाएगी | परहेज – लाल मिर्च, गर्ममसाले, मीट, अंडा तथा अन्य गर्म चीजों से दूर रहें | तभी आपको लाभ होगा |

गिलोय का सत

पुराने बुखार, प्रमेह, मर्दाना कमजोरी, धातु का पतला होना, दिमागी कमजोरी, भ्रम रोग, वाट, रक्त, हाथ-पांव की जलन की खास दवा है |

गिलोय का शर्बत

     प्रदर, क्षय, खांसी पेशाब रोग, सिर के दर्द के लिए विशेष दवा है | गिलोय का रस मिश्री के साथ मिलाकर प्रतिदिन पीने से पित्त, ज्वर, दाह, अरुचि दूर होती है |

प्रमेह रोग

गिलोय को रात के पानी में भिगो दें | सुबह उठकर उसे हाथों से मलकर सारा रस निकाल लें और छानकर उसमें तीन ग्राम हल्दी का चूर्ण मिलाकर पी जाएं | इससे प्रमेह रोग ठीक हो जाता है |

मुंह की सुंदरता

गिलोय का रस तथा नीबू का रस दोनों को मिलाकर पानी में मिलाकर मुहं की अच्छी तरह से साफ करें तो आपका मुखड़ा फूलों की भांति निखर आएगा |

आंखों के रोगों के लिए

     गिलोय का रस 10 ग्राम शहद 3 ग्राम मिलाकर आंखों में प्रतिदिन रात को सोते समय डालेंगे तो नजर तेज होगी तथा आंखों के सब रोग ठीक हो जाएंगे |

सुजाक रोग

गिलोय का क्वाथ दूध में मिलाकर पीने से सुजाक रोग एक मास के उपचार से दूर हो जाता है |

शुगर

गिलोय के रस (क्वाथ) को दिन में बार सेवन करने से रोग दूर हो जाता है |

शुगर के लिए एक अन्य नुस्खा

गिलोय का सत       1 ग्राम

बड़ी इलायची का चूर्ण   1 ग्राम

शहद                1 चम्मच

इन सबको मिलाकर दिन में दो बार चाटने रहने से शुगर से मुक्ति मिलती है |

कान के रोग

कान बहते हों या कान में दर्द हो तो गिलोय के पत्तों का रस निकालकर एक-एक बूंद दिन में दो-तीन बार कान में डालने से सब रोग ठीक हो जाते हैं |

पीलिया रोग

गिलोय का क्वाथ शहद में मिलाकर दिन में दो बार सेवन करने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है |

Azadirachta Indica Tinospora 

gloyReaders were shocked to hear the name of this strange man tinospora together Azadirachta Indica and how the two names joined together? The name actually comes from the addition of two names. Because that in itself is a huge Azadirachta Indica tree. Tinospora vine that is coated on the support of this tree is Palti. Tinospora can see in the picture of the vine.

Azadirachta Indica tree climbed the bell inside it simple, do not have large properties. Very few people have the knowledge about the finds of the infusion such as fever patients tinospora out four to five times a day with honey Given the fever.

Tinospora a village, six grains of pepper, a little ground rock salt dissolved in water and heat them all. When the water starts boiling, then took off down the Sieve. If the patient drink a little lukewarm fever fever will descend soon.

Bloody hemorrhoids patients

Tinospora ½ gram
1/6 grams Vanshli Chun
6 grams cardamom
Nos 10 g sugar

Taken together, grind finely strainer or filter cloth continuous bloody piles have taken twenty days will recover. Avoidance – red pepper, Grmmsale, meats, eggs and other warm things to stay away from. Only then you will benefit.

Tinospora extracts

Chronic fever, gonorrhea, masculine weakness, thinning of the metal, mental impairment, confusion, disease, Watts, blood, limbs particular drug irritation.

Tinospora syrup

Leucorrhoea, decay, cough urine disease, particularly for head pain medicine. Tinospora juice mixed with sugar drink daily bile, fever, inflammation, anorexia ends.

Gonorrhea disease

Tinospora soak in water overnight. In collaboration with her hands and squeeze all the juice in the morning and filter it to three grams of turmeric powder mixed drink. This disease is cured gonorrhea.

The beauty of the Face

Tinospora juice and lemon juice mixed with water, the combined clean your mouth thoroughly will greatly improve the look like flowers.

For eye diseases

Tinospora juice 10 g honey 3 grams daily at bedtime will be visible in the eyes and the eyes of all diseases will be more intensive.

Gonorrhea disease

Mix in milk decoction of tinospora disease gonorrhea is one month away from treatment.

Sugar

Tinospora juice (decoction) in the day time by taking the cures.

Another recipe for sugar

Tinospora infusion of 1 g
Large cardamom powder 1 gram
1 teaspoon honey

Taken together, lick it twice a day to get rid of the sugar.

Ear disease

If pain in the ear or ear flows Tinospora juice leaves drop two to three times a day, putting in ear diseases are cured all.

Jaundice

Tinospora decoction of honey twice a day Jaundice is cured by taking.

 

Thank for sharing!

About The Author


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *