Home » Herbal Medicine Plants » Natural benefits of “Pineapple (अनन्नास)” in Ayurveda

अनन्नास

pineappleअनन्नास का फल पहले भारत में नहीं होता था । विदेशी शासकों के आने के साथ-साथ यह फल भी अब भारत में खूब होने लगा है । इसका जन्म पश्चिम देशों में हुआ जो भारत में आकर खूब लोकप्रिय हुआ ।

गुण तथा लाभ

इस फल का छिलका बहुत ही सख्त होता है ।

दिल रोगियों के लिए वरदान

अनन्नास दिल के रोगियों के लिए बहुत लाभकारी है । ऐसे रोगियों की सुबह के समय 100 ग्राम अनन्नास का गुदा प्रतिदिन खाने से रोग से मुक्ति मिलती है ।

यदि फल समय पर न मिले तो इसका मुरब्बा या शर्बत भी सेवन कर सकते हैं ।

अजीर्ण रोग

अजीर्ण रोगियों के लिए पका अनन्नास नमक-मिर्च लगाकर खाना लाभदायक होता है ।

मर्दाना कमजोरी दूरकर

जो लोग अपने आपको कमजोर महसुस करते है उन्हें प्रतिदिन सुबह के समय 100 ग्राम अनन्नास खाना चाहिए । एक मास के सेवन से हर प्रकार की कमजोरी दूर हो जाती है ।

पेशाब अधिक आना

बार-बार थोड़ा-थोड़ा पेशाब आना भी एक रोग है । ऐसे रोगियों को अनन्नास का रस दो चम्मच बड़े पीपर के चूर्ण के साथ लेने से पेशाब का बार-बार आना ठीक हो जाता है ।
अनन्नास खुस के साफ कर शरीर में नया खून पैदा करता है ।

 

Pineapple

pineapple1Pineapple fruit was not in India. With the arrival of foreign rule in India the fruit is thought to be plenty. It was born in the West, which was a huge hit in India came.

Properties and Advantages

The rind of the fruit is very strict.

Boon for heart patients

Pineapple is very beneficial for heart patients. Such patients anal pineapple 100 grams per day in the morning to get rid of the disease by eating.

If you do not get time to jam or fruit juice also can be taken.

Indigestion disease

Indigestion for patients with a food seasoning ripe pineapple is beneficial.

Masculine weakness

Those who felt themselves vulnerable when they should eat pineapple 100 grams per day in the morning. A mass is weakness of every type of abuse.

Urinating more to come

A little too frequent urination is a disease. Such patients older Pepper powder with pineapple juice, two tablespoons of taking the piss gets recurrent nightmares.
Khus pineapple clean the body produces new blood.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name
Email
Website