Home » Herbal Medicine Plants » Benefits and Usage “Betel (पान)” in Ayurveda

पान

संस्कृत नाम – तांबुल

betelleafयह एक आरे लता है जो देखने में अति सुंदर एवं कोमल लगती है | इसके पत्ते पीपल अथवा गिलोय के पत्ते जैसे होते हैं । फुल समूहों में लगते है ।

लाभ तथा प्रयोग

पान का प्रयोग भारत में अधिकतर लोग मुंह के स्वाद तथा आम भाईचारे, मित्रता तथा सगे-संबधियों के सेवा के लिए करते हैं । पान के पत्ते में सुपारी, इलायची, सौंफ, मुलैठी तथा कुछ लोग तंबाकू डालकर भी खाते हैं ।

कुछ लोगों को वैद्द लोग दवाई रखकर देते हैं ।
खांसी रोगों में सौंफ, मुलैठी डालकर देने से लाभ होता है ।

Betel

Sanskrit name – Tambul

betelleaf1It brings a lo to see who looks exquisite and delicate. Betel leaves look like Ficus Religiosa leaves or Tinospora leaves. It takes full groups.

Benefits and Usage

In India, most people use the Pan mouth taste and common brotherhood, friendship and relatives tend to service. Betel nut leaf, cardamom, anise, licorice and some tobacco entering them eat.
 
Some people taking medicines are Vadd people.
Cough diseases anise, licorice is beneficial to add.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name
Email
Website