Home » Herbal Medicine Plants » “Sandalwood (चंदन)” beneficial for skin diseases in Ayurveda

चंदन

sandalचंदन का वृक्ष काफी लंबा-चौड़ा होता है । इसकी भीनी गंध सबके मन को भाती है । चंदन के पौधे में अनेक गुण हैं जिनमें से कुछ एक इस प्रकार है ।

सुजाक रोग

चंदन के तेल की चार बूंदे पताशे में डाल कर खा लें और ऊपर से गाय का दूध पी लें । दस दिन में सुजाक रोग से मुक्ति मिलेगी ।

चंदन का तेल, कपूर मिलाकर मस्तिष्क पर लगाने से हर प्रकार की पीड़ा दूर हो जाती है ।

चंदन के तेल में नीबू का रस मिलाकर मलने से खारिश-खुजली तथा अन्य चर्म रोगों से मुक्ति मिलती है ।

Sandalwood

sandal1Sandalwood tree is quite voluminous. The mind abhors all smell is earthy undertone. Sandalwood plants, some of which have a number of properties follows.

Gonorrhea disease

Put four drops of sandalwood oil into sugar candy  eat and then drink the cow’s milk. In ten days will cure gonorrhea.

Sandalwood oil, camphor overall brain cramps are all putting on.

Sandalwood oil and lemon juice and rub it from mites and scabies and other skin diseases gets freedom.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name
Email
Website