Home » Ayurveda » Medicinal uses of “Baheda” in Ayurveda

इसके अनेक नाम हैं जैसे विभीतक, कर्षफल | ये सबके सब संस्कृत नाम हैं | इसका वृक्ष बहुत बड़ा होता है | इसका फल बहुत छोटा होता है,  इसकी तासीर ठंडी होती है | अधिक मात्र में सेवन करने से गर्म फल का रूप धारण करता है | सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार के रोगों में इसका सेवन लाभदायक है |

baheda

जैसे कि पाठकों को पहले भी बता चूका हूं कि त्रिफला चूर्ण हरड-बहेड़ा-आमला ये तीनों मिलकर अनेक रोगों का उपचार करने में सफल होते हैं | 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name
Email
Website