Home » Herbal Medicine Plants » Medicinal use of Velvet Plant in Cough, Cold, Colic and Diarrhea

पाढ़

पाढ़ कोई वृक्ष या पौधा नहीं बल्कि एक बेल होती है | इसके कोने में से सफेद और सूक्ष्म मोर के समान फुल निकलता है |

इसके पत्ते गोल होते हैं तथा फल मक्का के दानों की भांति लाल होते हैं |

गुण तथा लाभ

पाढ़ उष्ण, चरपरा, कडुवा, पोक्षण तथा हल्का होता है | इसके द्वारा हम खांसी, नजला, जुकाम, शूल, ज्वर, अतिसार जैसे रोगों का उपचार कर सकते हैं |

लघु पाढ़

यह भी उसी नस्ल का पौधा है, इससे हम किसी भी विषैले जीव-जंतु के काटने पर इसकी जड़ को घिसकर लगाकर उसकी जान की रक्षा कर सकते हैं |

पाढ़ के पत्तों तथा जड़ को लेकर उसमें बरावर का पानी डालकर काढ़ा तैयार करें | इसमें थोड़ी मिश्री मिलाकर चालीस दिन तक सेवन करने से वस्तिदाह क्षत, रक्तातिसार, पथरी, पेचिश जैसे रोगों का नाश होता है |

 

Velvet

Velvet leaf or plant a tree is not a vine. More similar to the corner of the white and subtle implies full.

Its leaves are round and red fruits are like grains of corn.

Properties and Advantages

Heated to read, nutty, bitter, and is lighter Pokshn. Hereby we cough, catarrh, colds, colic, fever, diarrhea that can treat diseases like.

Short velvet

This plant is the same breed, we of any venomous animal bites its roots can protect his life by Grind.
Meets to read the leaves and roots of the water and prepare a decoction. Mix sugar candy intake marginally Vstidah savaged forty days, dysentery, appendicitis, diseases such as dysentery perish.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name
Email
Website