Home » Ayurvedic Help » Simple treatment of vomiting, Home Remedies.

उलटियां रोकने के सरल घरेलु उपचार

उल्टियाँ आने के कारण तथा उपचार इस प्रकार है –

vomiting

  • जी मिचलाने से भी उलटी आ जाती है |
  • जिसे अम्ल पित्त की तकलीफ हो, उसे भी उलटी आ जाती है |
  • पाँव भरी होने पर भी उलटी आ जाती है | सामान्य उलटी हो तो कोई बात नहीं, अधिक उल्टियाँ आएं तो उपचार जरूरी |
  • यदि आप यात्रा में हैं तो अपनी जेब से दो चार लौंग तथा थोड़ी मिसरी लें |
  • इसे चूसने से आराम मिलेगा |
  • नींबू काटें | इस पर नमक तथा पिसी चीनी लगाएं , चूसें | आरामं मिलेगा |
  • पुदीने का रस भी उलटी रोकता है |
  • दो लौंग पीसकर मिसरी के एक छोटे चम्मच में मिलाकर गर्भवती स्त्री को खिलाएं , आराम मिलेगा |
  • यदि उल्टियाँ पाचन क्रिया बिगड़ जाने के कारण हो तो एक हिस्सा नारंगी का रस, तीन जिससे पानी में मिलाकर पिलाने से पाचन किर्या भी सुधर जाती है |

अम्ल पित्त के कारण उल्टियाँ :-

  • एक कटोरी दही लें| एक प्याज बारीक काट कर दही में डालें | रोगी को खिलाएं दिन में दो बार |
  • जीरा एक हिस्सा, धनिया भी एक हिस्सा | दोनों को पीसे | इसे रख लें , मिसरी के पौडर के साथ एक एक चम्मच रोगी खाए | आराम आता जाएगा |
  • एक कप गर्म पानी में अध नींबू निचोड़ें व एक चम्मच शहद डालें | इसे मिलाकर रोगी को पिलाएं |
  • आवलें का चूरन एक बड़ा चम्मच एक ही चम्मच पिसी मिसरी | इन्हें मिलें | रोगी को खिलाकर उपर से गुनगुना पानी पिला दें | उल्टियाँ नही रहेगी | इन कुछ उपयों में से जो आप आसानी से अपना सकें, उन्हें ही अपनाएं|

About

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name
Email
Website

Popular post

“Revand Chini (रेवट चीनी)” beneficial for Constipation urine disease
“Banyan (बरगद)” properties and advantages in Ayurveda
“Luffa Echinata (देवदाली)” medicinal uses in Ayurveda
“Talis Patra (तालीस पत्र)” medicinal uses in Ayurveda
Herbal treatment and health benefits of Stevia herb-“Herbal Medicinal Plants” 

Trending

Like Us